Saturday , July 20 2019

चंद्रयान-2 की उलटी गिनती शुरू, खुलेगा चंद्रमा के दूसरे छोर का रहस्य

ISRO(भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र) का महत्वाकांशी मिशन चंद्रयान-2 की उल्‍टी गिनती शुरू हो गई है।

इसरो प्रमुख Dr K. Sivan के मुताबिक शनिवार से 20 घंटे के काउंटडाउन यह मिशन रविवार सुबह 6.51 बजे से शुरू हो जाएगा।

जिसके बाद 15 जुलाई को तड़के 2 बजकर 51 मिनट पर आंध्रप्रदेश के श्रीहरिकोटा के सतीश धवन सेंटर से इस मिशन का प्रक्षेपण होगा।

ISRO के लिए यह मिशन खासा चुनौतीपूर्ण साबित होने जा रहा है। जिसका कारण है चंद्रमा पर इस मिशन की लैंडिग।

दरअसल चंद्रयान-2 दुनिया का पहला मिशन है जो चंद्रमा के उस हिस्से की जानकारी जुटाएगा जो अब तक हर मिशन से अछूता है।

इससे पहले चंद्रमा पर ज्यादातर चंद्रयानों की लैंडिंग उत्तरी गोलार्ध में या भूमध्यरेखीय क्षेत्र में हुई हैं, लेकिन चंद्रयान-2 चंद्रमा के दक्षिण ध्रुवीय क्षेत्र की जानकारी ISRO तक पहुंचाएगा।

चंद्रयान-2 को चांद पर पहुंचाएगा बाहुबली

चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2), भारत के सबसे ताकतवर लॉन्चर GSLV MK-III रॉकेट से लॉन्च किया जाएगा, जिसे बाहुबली का नाम दिया गया है।

बाहुबली का वजन 640 टन है और इसकी ऊंचाई 44 मीटर है, जो 15 मंजिली इमारत के बराबर है।

बाहुबली चार टन वजनी सेटेलाइट चंद्रयान-2 को आसमान में ले जाने में सक्षम है।

बाहुबली के निर्माण में 375 करोड़ रुपये की लागत आई है।

यह लगभग 16 मिनट की अपनी उड़ान में चंद्रयान-2 को पृथ्‍वी की 170×40400 मिलोमीटर कक्षा में फेंकेगा। चंद्रयान-2 चांद की सतह पर 6 या 7 सितंबर को उतर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *